Breaking News
[responsivevoice_button pitch= voice="Hindi Female" buttontext="ख़बर को सुनें"]

सेवा सुरक्षा और बन्धुत्व हमारा ध्येय- प्रवीण

एसएसबी 42 वी वाहिनी ने धूमधाम से मनाया बल का 57 वाँ स्थापना दिवस।


ब्यूरो रिपोर्ट-एम.असरार सिद्दीकी।

बहराइच- रुपैड़िहा 42वी वाहिनी के कार्यवाहक कमांडेंट प्रवीण कुमार ने बताया कि आज दिनांक 20.12.2020 को वाहिनी मुख्यालय में बल का 57वां स्थापना दिवस मनाया गया। उक्त मौके पर वाहिनी मुख्यालय में विभिन्न खेलों का आयोजन किया गया।
कार्यवाहक कमांडेंट ने स्थापना दिवस के अवसर पर कार्मिकों को बल की क्षमता तथा कार्यकुशलता के बारे में अवगत कराया साथ ही साथ सशस्त्र सीमा बल के गौरवपूर्ण और स्वर्णीयम सफ़र के बारे में बताया। श्री प्रवीण ने बताया कि बल की स्थापना 1963 में की गयी थी जिसका लक्ष्य सरहदी आबादी का भरोसा जीतकर उनमें राष्ट्रीय स्वाभिमान जगाकर राष्ट्र की मुख्य धारा में शामिल करना था। वर्ष 2001 के बाद बल ने एक नए दौर में प्रवेश किया तथा बल की सीमा रक्षक के रूप में भूमिकाएं भी बढ़ी। एसएसबी की कार्यकुशलता का सम्मान करते हुए 2004 में बल को प्रेसिडेंट कलर्स से नवाजा गया। आज एसएसबी भारत- नेपाल और भारत भूटान की खुली संवेदनशील और चुनौतीपूर्ण सीमाओं की दिन रात हिफाजत करने के साथ उग्रवाद विरोधी अभियान, आपदा-राहत, वन्य-जीव और मानव तस्करी को रोकने में अपना अमूल्य योगदान रहा है। इन मुस्किल कार्य को अंजाम देने में बल ने लगातार अपनी क्षमताओं में विस्तार किया है। 1751 किलोमीटर लम्बी भारत-नेपाल तथा 699 किलोमीटर लम्बी भारत-भूटान की खुली सीमाओं की पैनी निगरानी रखना, पडोसी राष्ट्र के साथ मित्रतापूर्ण सम्बन्ध बनायें रखने, राष्ट्र विरोधी गतिविधियों को रोकने के साथ सीमा पर एसएसबी की मानव तस्करी के विरुद्ध मुहीम अनवरत जारी है। सशस्त्र सीमा बल एक बहुआयामी फ़ोर्स है तथा बल का पांच दसकों से भी लम्बा सफ़र सेवा सुरक्षा और बन्धुत्व के आदर्श को जीने और उसको जीवन्त बनाने की कीर्ति गाथा है।
स्थापना दिवस के शुभ अवसर पर 42वी वाहिनी के प्रांगन में बैटमिंटन तथा तम्बुला खेल का आयोजन किया गया। ताम्बुल खेल में उ.नि.अमित कुमार, स.उ.नि. सुभाष तथा अनिल कुमार पटेल ने पुरस्कार जीता तथा बैटमिंटन खेल में आठ प्रतिभागियों ने भाग लिया जिसमें मो. इमरान अख्तर अंसारी उपविजेता तथा वाहिनी के कार्यवाहक कमांडेंट प्रवीण कुमार विजेता रहे ।उक्त मौके पर एक भारत श्रेष्ठ भारत के तहत राष्ट्रीय एकता पर धुन बजायी गयी तथा कार्मिकों को सत्यनिष्ठा, कर्तव्यपरायणता तथा ईमानदारी के साथ कर्तव्यों का विर्वहन करने हेतु हिदायत दी गयी। उक्त मौके पर वाहिनी के कार्यवाहक कमांडेंट प्रवीण कुमार, अनिल कुमार यादव, सहायक कमांडेंट, निरीक्षक जे.के.त्रिपाठी, उ. नि. संचार प्रकाश चंद के साथ सभी वाहिनी कार्मिक उपस्थित रहें। कार्यक्रम के दौरान कोविड-19 से बचाव सम्बंधित सभी प्रोटोकाल का पालन किया गया।

About CMD NEWS

Check Also

सशस्त्र सीमा बल के महानिदेशक दलजीत सिंह चौधरी का 42वीं वाहिनी SSB बहराइच में दो दिवसीय भ्रमण

रिपोर्ट कृष्णा गोपाल सशस्त्र सीमा बल के महानिदेशक दलजीत सिंह चौधरी का 42वीं वाहिनी SSB …

Leave a Reply