Breaking News
[responsivevoice_button pitch= voice="Hindi Female" buttontext="ख़बर को सुनें"]

प्राचीन शिव मंदिर को ध्वस्त कर बन रहे मैरिज हाल लेकर विश्व हिंदू परिषद व बजरंग दल ने की बैठक।

रिपोर्ट- एम.असरार सिद्दीकी।
बहराइच- अंतरराष्ट्रीय विश्व हिंदू परिषद तथा बजरंग दल तत्वाधान में खण्डित शिव मंदिर के जीर्णोद्धार तथा दोषियों पर कार्यवाही हेतु रूपईडीहा कस्बे के आजाद रोड स्थित केदारेश्वर मंदिर में एक बैठक कर बेशकीमती शिव मन्दिर के जीर्णोद्धार के लिए प्रदेश व जिला स्तरीय पदाधिकारियों को सज्ञान में डालते हुए कार्रवाई करने की मांग किया। बताते चलें कि भारत नेपाल सीमावर्ती रूपईडीहा कस्बे मे नेशनल हाईवे एनएच 927 के पश्चिम में चकिया मोड़ के पास स्थित श्री राम जानकी राइस मील जो ग्राम सभा केवलपुर के मजरा रूपईडीहा की भूमि हैं।

जिसके ऊपर पूर्व स्थापित प्राचीन शिव मंदिर जिसे माधवलाल हवेलिया के परिजनों द्वारा स्थापित किया था। इस मंदिर मे कस्बे के लोग भी बर्षों से पूजाअर्चना करते थे। जिसे अरबों रुपये की लालच में विनोद कुमार सिंघानिया एवं गोपाल हवेलिया ने तत्कालीन बेईमान अधिकारियों के सह पर मंदिर के अस्तित्व को समाप्त कर दिया गया। जिसके कारण रूपईडीहा क्षेत्र के लोगों ने काफी आक्रोश ब्याप्त है।दर असल बिनोद सिंघानिया ने अरबों रुपये कीमत की ग्राम सभा की जमीन को हासिल करने के लिए तत्कालीन एसडीएम नानपारा तथा हिंदू युवा वाहनी के एक प्रदेश पदाधिकारी को विश्वास में लेकर कब्जा करने की रणनीति बनाई। सर्वप्रथम शीतकाल में कंबल वितरण के नाम पर हिंदू युवा वाहिनी द्वारा गरीबो को कंबल वितरण तथा बिशाल भंडारा तथा मंदिर स्थापना के लिए शिलान्यास कार्यक्रम आयोजित कर लोगों का विश्वास जीता। और मंदिर निर्माण के लिए शिलान्यास भी परिवार के साथ किया। उसके बाद केवलपुर ग्राम सभा के मजरा रूपईडीहा कस्बे की बेशकीमती जमीन को प्लाटिंग कर बेचना शुरू कर दिया। धीरे-धीरे उसकी नियत बदल गई। और शिव मंदिर के अस्तित्व को समाप्त कर शिव मंदिर की जगह पर मैरिज हाल का निर्माण शुरू कर दिया। जिसको लेकर स्थानीय लोगों में आक्रोश शुरू हो गया। कई समाचार पत्रों में शिव मंदिर के विनाश की खबर पढ़ते ही हिंदू युवा वाहिनी के अतिरिक्त भारतीय जनता पार्टी नेता व अन्य भ्रांत संगठन जो हिंदुत्व का अलख जगाते हैं। उन्होंने संज्ञान में लेकर शिव मंदिर निर्माण के लिए स्थानीय लोगों के साथ मंदिर संघर्ष समिति के पदाधिकारियों का मनोनयन कर संघर्ष का ऐलान कर दिया। उन्होंने कहा कि शिव मंदिर से संबंधित सभी साक्ष्य अंतरराष्ट्रीय विश्व हिंदू परिषद के कार्यालय को प्रस्तुत करें ताकि सरकार से मांग कर शीघ्र से शीघ्र शिव मंदिर का निर्माण कराया जाए। तथा दोषियों पर विधिक कार्रवाई किया जा सके। गौरतलब है कि विनोद सिंघानिया ने तत्कालीन रूपईडीहा कोतवाल आलोक राय एवं तत्कालीन एसडीएम नानपारा के सह पर शिव मंदिर का अस्तित्व समाप्त कर केवलपुर ग्राम सभा की सैकड़ों बीघा जमीन को आवासीय भूमि के रूप में बेचना शुरू कर दिया। पूर्व में स्थानीय लोगों को विश्वास में लेने के लिए उसी परिसर में मंदिर के जीर्णोद्धार के लिए भूमि पूजन करा कर शिव मंदिर बनाने का आश्वासन भी दे डाला था। जिससे आक्रोशित रूपईडीहा क्षेत्र वासियो में मंदिर निर्माण की आशा जगी। लेकिन भूमाफिया की गिद्ध निगाह पूर्व में स्थापित सड़क के किनारे बेशकीमती शिव मंदिर की जमीन पर गड़ गई । और शिव मंदिर को समाप्त कर शिव मंदिर के मूर्तियों को वहां से हटा कर एक शटर के अंदर बंद कर दिया। और उस स्थान पर मैरिज हाल का निर्माण द्रुतगामी रूप से शुरू कर दिया। जिससे लोगों का विश्वास को धक्का लगा हैं। लोगों ने अंतरराष्ट्रीय विश्व हिंदू परिषद के जिला पदाधिकारी तहसील पदाधिकारी नगर पदाधिकारी तथा भाजपा के जिला पदाधिकारियों के साथ रुपईडीहा के आजाद रोड स्थित केदारेश्वर मंदिर में एक बैठक कर संघर्ष समिति का एलान कर दिया। तथा प्राचीन मंदिर का निर्माण पुराने स्थल पर स्थापित कराने की मांग पर अड़ गए की शिव मंदिर के स्थान को नहीं बदला जाएगा। तथा मंदिर के स्थान पर निर्माण हो रहे मैरिज हाल के ऊपर छत पर बनाना पड़ेगा पूरा जमीन जो मंदिर का है। मंदिर के कब्जे का होगा। नहीं तो इसके लिए विधिक कार्रवाई करते हुए हम संघर्ष के लिए अग्रसर होंगे। बैठक में हिंदू कार्यकर्ता मनीष नारायण शर्मा, रमेश कुमार अमलानी, मंगल सोनी, बृज नरेश श्रीवास्तव, नगर भाजपा अध्यक्ष रतन कुमार अग्रवाल, विपिन अग्रवाल, जगदीश कुमार कौशल, आदि सैकड़ों कार्यकर्ता उपस्थित रहे।

About CMD NEWS

Check Also

सशस्त्र सीमा बल के महानिदेशक दलजीत सिंह चौधरी का 42वीं वाहिनी SSB बहराइच में दो दिवसीय भ्रमण

रिपोर्ट कृष्णा गोपाल सशस्त्र सीमा बल के महानिदेशक दलजीत सिंह चौधरी का 42वीं वाहिनी SSB …

Leave a Reply