Breaking News
[responsivevoice_button pitch= voice="Hindi Female" buttontext="ख़बर को सुनें"]

चीनी मिल मालिक नही कर रहे बकाये गन्ने का भुगतान

सुनील तिवारी

ब्यूरोचीफ गोण्डा

गोंडा. मुख्यमंत्री की घोषणा के बाद गन्ना किसानों का बकाया राशि जल्द पहुंचाने का दावा छलावा साबित हो रहा है। जहां प्रशासन द्वारा सख्त कदम उठाने के बावजूद भी गन्ना किसानों को राहत मिलती नहीं दिख रही है। जिलाधिकारी द्वारा के निर्देशों के बावजूद अभी तक गन्ना किसानों को अपने भुगतान के लिए जूझना पड़ रहा है। जनपद की तीन चीनी मिलों में अकेले बजाज चीनी मिल किसानों का 75 करोड़ दबाए बैठी हैं। गन्ना किसानों का वर्तमान की बात क्या की जाए उन्हें पिछले वर्ष का भी बकाया नहीं मिल पाया है।जिले में प्रशासन के सख्ती बरतने के बाद भी अभी तक गन्ना किसानों का बकाया राशि नहीं मिल पाया है। जिलाधिकारी ने चीनी मीलों को स्पष्ट निर्देश देते हुए कहा कि अगर 31 जनवरी तक किसानों को उनके गन्ने की बकाया राशि नहीं मिलता तो चीनी मीलों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। प्रशासन के इतने सख्त रवैये के बावजूद किसानों को फायदा नहीं मिल पा रहा है।बता दें कि बजाज चीनी मिल के पिछले वर्ष का भी भुगतान नहीं किया है। बजाज चीनी मिल का पिछले वर्ष का गन्ना किसानों का बकाया 75 करोड़ रुपए है। गन्ना किसान अपना भुगतान न मिलने से सरकार व प्रशासन से काफी दुःखी हैं।इस बाबत जिलाधिकारी डॉ नितिन बंसल ने बताया कि यह गन्ना पेराई का सीजन चल रहा है और जनपद में बलरामपुर चीनी मिल की तीन मिले चल रही है। बभनान, मैजापुर और मनकापुर इसके अलावा बजाज चीनी मिल की 1 मील कुंदरखी में चल रही है। इन सभी मिलों द्वारा इस समय गन्ने की पेराई की जा रही है। बलरामपुर चीनी मिलों का पूर्व वर्ष का पूरा भुगतान किया।

About cmdnews

Check Also

रिसिया पॉवर हाउस विभाग के कर्मचारियों की लापरवाही से ग़ायब है एक हफ़्ते से बिजली

बहराइच:- रिसिया नगर में स्थित पॉवर हाउस में विगत कई दिनों से बिजली व्यवस्था चरमराई …

Leave a Reply