Breaking News
[responsivevoice_button pitch= voice="Hindi Female" buttontext="ख़बर को सुनें"]

बहराइच: ट्रेनों का संचालन बंद निर्णय से आक्रोशित है जिलेवासी रेल मंत्री व सासंद से मामले में हस्तक्षेप की मांग

असरार ब्यूरो चीफ बहराइच

बहराइच। वन क्षेत्रों की लाईफ लाईन कही जाने वाली बहराइच-मैलानी लाइन पर ट्रेनों का संचालन आगामी दिनों में बंद करने के निर्णय को लेकर जनपदवासी आक्रोशित है। नानपारा, मिहींपुरवा, बिछिया, मुर्तिहा, सुजौली क्षेत्र के हजारों ग्रामीणों द्वारा ट्रेने बंद किये जाने के निर्णय को लेकर नाराजगी है। लोगों का कहना है कि क्षेत्र के गरीब मजदूर मैलानी व बरेली के रास्ते रोजी रोटी कमाने के लिए पंजाब, दिल्ली, हल्द्वानी, देहरादून, हरिद्वार कम किराये में पहुंच जाते है। ग्रामीणों का कहना है कि वन विभाग द्वारा तर्क दिया जा रहा है कि ट्रेनों के संचालन से वन्यजीवों को खतरा है। जबकि बीते पांच-छह वर्षों में एक भी शेर या हाथी की ट्रेन से कटकर मौत नहीं हुई है। वर्तमान समय में बहराइच-मैलानी के मध्य दो जोड़ी व बहराइच से तिकुनियां के बीच एक जोड़ी ट्रेनों का संचालन दिन में किया जाता है। जिससे बिछिया, मिहींपुरवा के हजारों लोग पढ़ाई, रोजी रोटी व पेशी मुकदमा के लिए आते जाते है। ग्रामीणों ने रेल मंत्री व सांसद से मांग की है कि ट्रेनों का संचालन बंद न कर पूर्व की भांति ट्रेनें चलायी जायी। जिससे लोगों को यात्री सुविधाएं मिल सके। मांग करने वालों में सिद्धराम वर्मा, मोनावती, अयोध्या गांव निवासी अम्बर लाल, ग्राम प्रधान अयोध्या गांव राधा किशुन, मनीष वर्मा, नसीम खां, संतोष कुमार, महेश कुमार, सौरभ वर्मा, दिलीप कुमार वर्मा, शहजाद अली, नसीम खां सहित सैकड़ों लोग शामिल है।

About cmdnews

Check Also

Coronavirus- कोरोना वायरस के 25,000 नए केस से हड़कंप, स्वास्थ्य मंत्री ने जारी की एडवाइजरी, क्या फिर लौट रही महामारी?

दक्षिण पूर्व एशियाई देश सिंगापुर में कोरोना वायरस एक बार फिर से फैल रहा है। …

Leave a Reply