Breaking News
Home / CMD NEWS E-NEWSPAPER / प्रधानाचार्य के शय पर अध्यापिका रहती हैं विद्यालय में नदारद, उपस्थिति रजिस्टर में अध्यापिका के हस्ताक्षर मौजूद, बड़ा सवाल आखिर कौन बना रहा अध्यापिका के हस्ताक्षर। सर्व शिक्षा अभियान के चलते जहां एक और शिक्षा विभाग सरकार की योजनाओं को पूरी निष्ठा और ईमानदारी के साथ चलाने का दावा कर रही है।
[responsivevoice_button pitch= voice="Hindi Female" buttontext="ख़बर को सुनें"]

प्रधानाचार्य के शय पर अध्यापिका रहती हैं विद्यालय में नदारद, उपस्थिति रजिस्टर में अध्यापिका के हस्ताक्षर मौजूद, बड़ा सवाल आखिर कौन बना रहा अध्यापिका के हस्ताक्षर। सर्व शिक्षा अभियान के चलते जहां एक और शिक्षा विभाग सरकार की योजनाओं को पूरी निष्ठा और ईमानदारी के साथ चलाने का दावा कर रही है।

प्रधानाचार्य के शय पर अध्यापिका रहती हैं विद्यालय में नदारद, उपस्थिति रजिस्टर में अध्यापिका के हस्ताक्षर मौजूद, बड़ा सवाल आखिर कौन बना रहा अध्यापिका के हस्ताक्षर।

सर्व शिक्षा अभियान के चलते जहां एक और शिक्षा विभाग सरकार की योजनाओं को पूरी निष्ठा और ईमानदारी के साथ चलाने का दावा कर रही है।

रिपोर्ट अमरेश कुमार राणा

बहराइच जिले के चितौरा ब्लाक अंतर्गत कमोलिया के मजरा बाड़ीपुरवा के प्राथमिक विद्यालय की तस्वीरें सरकार के दावों पर पलीता लगाने में कोई कसर नहीं छोड़ती नजर आ रही है दरअसल सरकार ग्रामीण क्षेत्रों में शिक्षा के स्तर को बढ़ाने की जहां एक ओर पुरजोर कोशिश करती नजर आती है तो वहीं जिले के शिक्षा विभाग से निकलकर आने वाली तस्वीरें बेहद हैरान और शर्मसार करने वाली हैं कथित तौर पर अध्यापिका प्रीति सिंह लगभग 1माह पूर्व से विद्यालय नही आ रही हैं मौके पर जब ग्राम प्रधान माधवाराम पांडे व ग्रामीणों की उपस्थिति में विद्यालय का निरक्षण किए जाने के दौरान यह पता चला की उक्त अध्यापिका को लगभग 1माह न आने के बावजूद भी उपस्थित रजिस्टर में अध्यापिका के हस्ताक्षर पाया जाना प्रधानाचार्य राकेश कुमार सैनी व अध्यापिका प्रीति सिंह के मिलीभगत के राज को और मजबूत करती हुई नजर आई जब मौके पर प्रधानाचार्य से उक्त प्रकरण पर प्रकाश डालने को कहा गया तो प्रधानाचार्य साहब ने साफ मना करते हुए अपने जिम्मेदारियों से कतराते नजर आए, दिनांक 7 मई को जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी से उक्त प्रकरण पर सूचित करने की कोशिस की गई तो किन्ही कारणों से उनका फोन नही उठा जिसके उपरांत सदर बहराइच उपजिलाधिकारी को उक्त प्रकरण पर सूचित किया गया तो तत्कालीन घटना को गहनता से लेने की बात कहते हुए जिम्मेदार के खिलाफ उचित कार्यवाही किए जाने का आश्वासन दिया।

About Anuj Jaiswal

Check Also

सशस्त्र सीमा बल के महानिदेशक दलजीत सिंह चौधरी का 42वीं वाहिनी SSB बहराइच में दो दिवसीय भ्रमण

रिपोर्ट कृष्णा गोपाल सशस्त्र सीमा बल के महानिदेशक दलजीत सिंह चौधरी का 42वीं वाहिनी SSB …

Leave a Reply