Breaking News
Home / Uncategorized / दिग्गज राजनैतिक लोगों के बीच पत्रकार संतोष शर्मा ने गोंडा सदर से नामांकन कर ठोंकी ताल
[responsivevoice_button pitch= voice="Hindi Female" buttontext="ख़बर को सुनें"]

दिग्गज राजनैतिक लोगों के बीच पत्रकार संतोष शर्मा ने गोंडा सदर से नामांकन कर ठोंकी ताल

गोण्डा । जनपद में 27 फरवरी को होने वाले विधान सभा चुनाव की सरगर्मियां काफी तेज हो गयी हैं। पाँचवे चरण के नामांकन के आखिरी दौर में गोंडा सदर विधानसभा से पत्रकार/वरिष्ठ समाजसेवी संतोष कुमार शर्मा ने नैतिक दल से नामांकन किया है। संतोष शर्मा बड़े राजनीतिक सूरमाओं को चुनौती देते नजर आएंगे। मालूम हो कि संतोष शर्मा पेशे से पत्रकार हैं जो कि निष्पक्ष रूप से आमजनमानस की आवाज बनकर लड़ते आ रहे हैं। उनके चुनाव में उतरने से गरीब, मजदूरों, रिक्शा चालकों सहित पत्रकारों में भारी उत्साह देखा जा रहा है। आमजनमानस में उनके इस चुनाव लड़ने के फैसले पर उत्सुकता दिखाई दी है। एक तरफ सदर विधानसभा में जहाँ सूरज सिंह समाजवादी पार्टी से, सदर विधायक प्रतीक भूषण सिंह भाजपा से, मो0 जकी बसपा से, कांग्रेस ने रमा कश्यप को उम्मीदवार बनाया है। इस चुनाव में भाजपा और सपा में बेहद रोमांचक मुकाबले की उम्मीद बनती दिखाई दे रही है। वहीं नैतिक दल से संतोष शर्मा के चुनाव लड़ने से दिग्गज नेताओं में खलबली मच गई है। संतोष ने नामांकन करने के बाद मीडिया से बात करते हुए कहा कि यह चुनाव आमजनमानस का चुनाव है। जहाँ लोग महंगी गाड़ियों से अपना रौब जमाते हुए प्रचार करते नजर आएंगे। वहीं संतोष अपने पुराने अंदाज में मोटरसाइकिल पर सवारी कर प्रचार करेंगे। संतोष शर्मा ने कहा कि यदि जनता चुनाव जिताकर मौका देती है तो सदन में जनप्रतिनिधियों की शैक्षिक योग्यता निर्धारित करने की माँग करेंगे। श्री शर्मा ने सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि 2005 से कर्मचारियों को पेंशन नही दी जा रही है तो फिर एक दिन के लिए चुने गए सांसदों, विधायकों को पेंशन क्यों मिल रही है। सरकार कर्मचारियों की पेंशन बहाल करे या फिर जनप्रतिनिधियों की पेंशन बन्द करे। दूसरी माँग करते हुए कहा कि जैसे सरकारी विभागों में चपरासी पद के लिए योग्यता तय है वैसे ही ग्राम पंचायत सदस्य से लेकर देश के उच्च सदनों के लिए स्नातक स्तर की डिग्री तय की जाए। उन्होंने कहा कि शिक्षित नेता होने से देश की दिशा और दशा बेहतर होगी। संतोष शर्मा ने सरकारी विभागों के निजीकरण और आउटसोर्सिंग कंपनियों के तहत मिल रही नियुक्तियों में भारी धांधली का आरोप लगाते हुए कहा कि सरकारी विभागों का निजीकरण बन्द हो। जिससे सरकारी पैसों का कंपनियां बन्दरबाँट न कर सके। संतोष शर्मा पहली बार विधानसभा का चुनाव लड़ रहे हैं। नैतिक दल ने उनको टिकट देकर चुनाव लड़ने को कहा है। इससे पहले वो पंडरी कृपाल क्षेत्र से जिला पंचायत सदस्य का निर्दल चुनाव लड़ चुके हैं जिसमें उनको भारी जनसमर्थन प्राप्त हुआ था। अब देखने की यह बात होगी कि जनहित के मुद्दे को बेबाक तरीके से रखने वाले श्री शर्मा जनता का कितना प्यार व विश्वास हासिल कर पाते हैं। वैसे श्री शर्मा के मैदान में आने से चुनाव काफी रोमांचक हो गया है।

About Sunil Kumar Tiwari

Check Also

Uppsc RO/ARO hindi set 2024

DocScanner 11-Feb-2024 7-30 pm 11 फरवरी 2024 को यूपीपीएससी आर ओ/ ए आर ओ का …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *