Breaking News
Home / World / प्रमुख खबरें / पीड़ित परिवार को न्याय ना मिलने पर धरने पर बैठे पीड़ित परिवार पर दबंगों ने किया हमला
[responsivevoice_button pitch= voice="Hindi Female" buttontext="ख़बर को सुनें"]

पीड़ित परिवार को न्याय ना मिलने पर धरने पर बैठे पीड़ित परिवार पर दबंगों ने किया हमला

रिपोर्टर अनुज जायसवाल

मिहींपुरवा तहसील के अंतर्गत ग्राम सभा करमोहना निवासी इंद्रावती पत्नी संवरू की जमीन पर 5 वर्ष पहले दबंगों द्वारा जबरदस्ती कब्जा कर लिया गया था। जिसकी शिकायत कई बार उच्चाधिकारियों से की गई। लेकिन कहीं उचित न्याय नहीं मिल सका। जिससे आजिज होकर जनपद बहराइच के रैन बसेरे पर इंद्रावती अपने परिवार सहित 21 दिन तक लगातार धरना पर बैठी रही। 21 वें दिन राजस्व विभाग अधिकारी तथा पुलिस क्षेत्राधिकारी द्वारा 2 हफ्ते में उचित न्याय दिलाने का आश्वासन दिया। जिस पर धरना समाप्त कर पीड़ित अपने घर वापस चले आए। आश्वासन मिलने के बाद से उचित न्याय दिलाने की बात तो दूर कोई अधिकारी व क्षेत्र का कर्मचारी पीड़ित से मुलाकात करने तक नहीं करने पहुंचा। जिससे नाराज होकर पीड़ित परिवार ने ही ग्राम सभा करमोहना के मजरा परसोहना में अनिश्चितकालीन धरने पर बैठ गए। पीड़ित के मुताबिक उसके गांव का कोई भी व्यक्ति उस के पक्ष में नहीं है। यहां तक कि ग्राम सभा के ग्राम प्रधान सिराजुल हक भी उसकी बात को अनसुना कर रहे हैं। अनिश्चितकालीन धरने पर बैठे परिवार पर गांव के कुछ दबंग व्यक्ति ने हमला कर दिया है। जिनका नाम रघु,शिवचरन,खेलावन है/दबंगों द्वारा किए गए इस हमले में धरने पर बैठे संवरू तथा उनकी पत्नी इंद्रावती को गंभीर चोटें आई हैं। जिनको सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र मोतीपुर में उपचार हेतु लाया गया है जिसमें पीड़ित की पत्नी इंद्रावती की हालत काफी नाजुक बताई जा रही है। उन्हें अभी तक होश न आने के कारण जिला अस्पताल रेफर कर दिया गया है/पीड़ित के मुताबिक इस जानलेवा हमले में शामिल रघु को 10 दिन पहले 3 पेटी नेपाली शराब के साथ मोतीपुर पुलिस द्वारा गिरफ्तार किया गया था/जिसके बाद मोतीपुर थाने लाकर इस आरोपी को पैसा लेकर छोड़ दिया गया था

 

About CMDNEWS

Check Also

Coronavirus- कोरोना वायरस के 25,000 नए केस से हड़कंप, स्वास्थ्य मंत्री ने जारी की एडवाइजरी, क्या फिर लौट रही महामारी?

दक्षिण पूर्व एशियाई देश सिंगापुर में कोरोना वायरस एक बार फिर से फैल रहा है। …

Leave a Reply