Breaking News
Home / Uncategorized / BREAKING NEWS / 28 अप्रैल 2019 हिन्दू पंचांग ~ 🌞 अनुसार आज की सम्पूर्ण जानकारी
[responsivevoice_button pitch= voice="Hindi Female" buttontext="ख़बर को सुनें"]

28 अप्रैल 2019 हिन्दू पंचांग ~ 🌞 अनुसार आज की सम्पूर्ण जानकारी

~ आज का हिन्दू पंचांग ~ 🌞
⛅ दिनांक 28 अप्रैल 2019
⛅ दिन – रविवार
⛅ विक्रम संवत – 2076 (गुजरात. 2075)
⛅ शक संवत -1941
⛅ अयन – उत्तरायण
⛅ ऋतु – ग्रीष्म
⛅ मास – वैशाख (गुजरात एवं महाराष्ट्र अनुसार चैत्र)
⛅ पक्ष – कृष्ण
⛅ तिथि – नवमी शाम 07:34 तक तत्पश्चात दशमी
⛅ नक्षत्र – धनिष्ठा 29 अप्रैल प्रातः 05:19 तकतत्पश्चात शतभिषा
⛅ योग – शुक्ल 29 अप्रैल रात्रि 03:34 तत्पश्चात ब्रह्म
⛅ राहुकाल – शाम 05:13 से शाम 06:49 तक
⛅ सूर्योदय – 06:11
⛅ सूर्यास्त – 19:01
⛅ दिशाशूल – पश्चिम दिशा में
⛅ *व्रत पर्व विवरण –
💥 विशेष – नवमी को लौकी खाना गोमांस के समान त्याज्य है।(ब्रह्मवैवर्त पुराण, ब्रह्म खंडः 27.29-34)
💥 रविवार के दिन स्त्री-सहवास तथा तिल का तेल खाना और लगाना निषिद्ध है।(ब्रह्मवैवर्त पुराण, ब्रह्म खंडः 27.29-38)
💥 रविवार के दिन मसूर की दाल, अदरक और लाल रंग का साग नहीं खाना चाहिए।(ब्रह्मवैवर्त पुराण, श्रीकृष्ण खंडः 75.90)
💥 रविवार के दिन काँसे के पात्र में भोजन नहीं करना चाहिए।(ब्रह्मवैवर्त पुराण, श्रीकृष्ण खंडः 75)
💥 स्कंद पुराण के अनुसार रविवार के दिन बिल्ववृक्ष का पूजन करना चाहिए। इससे ब्रह्महत्या आदि महापाप भी नष्ट हो जाते हैं।
🌞 ~ हिन्दू पंचांग ~ 🌞

🌷 पेशाब में जलन होती हो तो 🌷
👉🏻 कपड़े को गीला करके नाभि पर रखे तो पेशाब में और पेशाब की जगह होनेवाली जलन शीघ्र ही कम हो जायेगी |
🙏🏻
🌞 ~ हिन्दू पंचांग ~ 🌞

🌷 वास्तु शास्त्र 🌷
🏡 एक घर में होना चाहिए एक मंदिर
एक घर में अलग-अलग पूजाघर बनवाने की बजाए मिल-जुलकर एक मंदिर बनवाए। एक घर में कई मंदिर होने पर वहां के सदस्यों को मानसिक, शारीरिक और आर्थिक समस्याओं का सामना करना पड़ता है।
🌞 ~ हिन्दू पंचांग ~ 🌞

🌷 घर में बरकत नहीं हो तो 🌷
💵 घर में बरकत नहीं होती तो खडी हल्दी की सात गाँठे और खड़ा नमक कपडे में बांध लें और कटोरी में रख दें घर के किसी भी कोने में, बरकत होगी |

About cmdnews

Check Also

Savoring the Symphony: A Culinary Exploration of Chinese Cuisine

Savoring the Symphony: A Culinary Exploration of Chinese Cuisine Chinese cuisine, with its rich tapestry …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *