Breaking News
Home / Uncategorized / *न्यूज कवरेज करने से नाराज कोतवाल ने पत्रकार को घर से उठाया। की बदसलूकी। पत्रकारों में आक्रोश।*
[responsivevoice_button pitch= voice="Hindi Female" buttontext="ख़बर को सुनें"]

*न्यूज कवरेज करने से नाराज कोतवाल ने पत्रकार को घर से उठाया। की बदसलूकी। पत्रकारों में आक्रोश।*

 

(गोंडा जनपद के खोड़ारे थाना क्षेत्र में नाबालिग दलित बालिका से गैंगरेप का मामला ) गोंडा। जनपद के खोड़ारे थाना क्षेत्र में नाबालिग दलित बालिका से हुये गैंगरेप की न्यूज कवरेज करना एक स्थानीय संवाददाता को मंहगा पड़ गया। जिन्हें कोतवाल रात्रि में उनके घर से उठाकर थाने ले आया व पत्रकार के साथ अभद्रता करने के साथ ही पुलिसिया रौब दिखाकर धमकाया। बताते चलें कि बीते 21 सितंबर की शाम को थाना क्षेत्र के एक गाँव में एक नाबालिग बालिका के शौच के लिये जाते समय पास के ही धर्मेंद्र व मुकेश के साथ एक अन्य युवक ने चार पहिया गाड़ी से अगवा कर जबरन किसी अज्ञात स्थान पर उठा ले गये तथा लगातार उसके साथ तीन दिनों तक डरा धमकाकर कर जबरन बलात्कार करने के साथ अप्राकृतिक कृत्य भी करते रहे।बाद में उसे कोठे पर बेचने की बात करने लगे ।जब उसमें वह सफल नहीं हो पाये तो शुक्रवार की सुबह उसे खोड़ारे के समीप सूनसान जगह पर छोड़ते हुये उसे परिजनों व पुलिस से शिकायत पर परिजनों को जान से मार डालने की धमकी देकर चलते बने।सुबह दस बजे के करीब किसी के मोबाइल से पीड़िता ने परिजनों को रोते हुये अपने साथ घटी घटना की सूचना दी। पीड़िता के पिता के मुताबिक जब वह सूचना पर मौके पर पहुँचे तो पीड़िता ने उनसे लिपट कर फूट-फूट कर रोते हुये अनाचार को बताया।जिसकी शिकायत उसने स्थानीय कोतवाली में की।इस संबंध में पत्रकार अभिषेक तिवारी ने बताया कि इस गंभीर घटना की कवरेज कोतवाल प्रमोद सिंह को इतनी नागवार गुजरी कि उन्होंने पहले पीड़िता के घर जाकर उसे बरगलाया फिर पत्रकार के घर रात करीब आठ बजे पहुँच कर उसे जबरन पुलिस जीप में अपराधियों की तरह डालकर थाने ले आया व उसके साथ अभद्रता करते हुये जिंदगी बरबाद करने की धमकी दी।मामले की सूचना आग की तरह फैल गई।जिले के पत्रकारों व राष्ट्रीय पत्रकार महासंघ द्वारा इसपर सीएम समेत अन्य उच्चाधिकारियों को इस बाबत अवगत कराकर उस पर रोष व्यक्त करते हुये अविलंब कार्यवाही करने की मांग की।जिस पर उच्चाधिकारियों द्वारा हस्तक्षेप करने पर आखिरकार कोतवाल को कवरेज करने वाले पत्रकार को तत्काल छोड़ना पड़ा। अब सवाल यह है कि स्थानीय पुलिस की इस हरकत पर पुलिस अधीक्षक कोई कार्रवाई करेंगे या नहीं।बहरहाल पुलिस की इस हरकत पर जिले के पत्रकारों ने आक्रोश व्यक्त करते हुये कहा कि यदि चौथे स्तम्भ पर हमला करने वाले इस कोतवाल के विरूद्ध कार्रवाई नहीं की गयी तो पत्रकार आंदोलन को बाध्य होंगे।

ब्यूरो चीफ सुनील तिवारी के साथ संजय की रिपोर्ट गोंडा

खबर व विज्ञापन के लिए संपर्क करें 9198167553

About Sunil Kumar Tiwari

Check Also

Uppsc RO/ARO hindi set 2024

DocScanner 11-Feb-2024 7-30 pm 11 फरवरी 2024 को यूपीपीएससी आर ओ/ ए आर ओ का …

Leave a Reply