Breaking News
Home / Uncategorized / कतर्नियाघाट बहराइच-बाघ ने बनाया दादी पोती को निवाला दोनों की मौत
[responsivevoice_button pitch= voice="Hindi Female" buttontext="ख़बर को सुनें"]

कतर्नियाघाट बहराइच-बाघ ने बनाया दादी पोती को निवाला दोनों की मौत

जनपद बहराइच में मंगलवार की शाम को कतार्नियाघाट संरक्षित वन क्षेत्र के जंगल से निकलकर आए टाइगर के हमले से खेत में काम कर रही दादी और पोती की मौत हो गई है। घटना की सूचना मिलने पर वन विभाग और स्थानीय पुलिस मौके पर पहुंचे और शवों को कब्जे में लेकर पोस्मार्टम के लिए भेजने की कारवाई कर रहे हैं।

थाना सुजौली क्षेत्र के बिसनापुर गाँव निवासी सोहनी (55), निम्बू (14) जो कि दादी और पोती है ये मंगलवार की शाम को लगभग 4 बजे अपने घर से निकलकर बर्दिया एसएसबी कैम्प के समीप स्थित अपने खेत में काम के लिए गई थी, तभी पहले से घात लगाए बठे टाइगर ने दोनों पर हमलाकर मार डाला। पड़ोस के खेतों में काम कर रहे लोगों ने जब चीक पुकार सुनी तो ग्रामीण शोर मचाते हुए उस ओर दौड़े, लेकिन तबतक टाइगर उन्हें ज़ख़्मी कर मौत के घाट उतार चुका था। घटना की सूचना पाकर मौके पर कतर्निया वनरेंज के रेंज अफसर पीयूष मोहन श्रीवास्तव, वन दरोगा अनिल, वन दरोगा असफाक खान व थाना सुजौली के एसआई जितेन्द्र अपने दलबल के साथ मौके पर पहुंचे और दोनों शवों को कब्जे में लेकर पोस्मार्टम के लिए भेजने की कारवाई कर रहे हैं।

ग्रामीणों का कहना है कि आज जिस जगह पर टाइगर ने दादी और पोती को अपना निवाला बनाया है, उस जगह पर दो घटनाएं इससे पूर्व हो चुकी हैं। लेकिन वन विभाग ने अभीतक कोई ठोस कदम नहीं उठाया है, जिससे क्षेत्रीय ग्रामीणों में काफी रोष व्याप्त है।

 

मिथिलेश जायसवाल की रिपोर्ट

About cmdnews

Check Also

10वें अंतराष्ट्रीय योगा दिवस के उपलक्ष्य में 59वीं वाहिनी सशस्त्र सीमा बल नानपारा द्वारा ‘स्वयं और समाज के लिए योग’ थीम के अंतर्गत योगा शिविर का आयोजन किया गया।

रिपोर्ट कृष्णा गोपाल 10वें अंतराष्ट्रीय योगा दिवस के उपलक्ष्य में 59वीं वाहिनी सशस्त्र सीमा बल …

Leave a Reply