Breaking News
[responsivevoice_button pitch= voice="Hindi Female" buttontext="ख़बर को सुनें"]

राशन काला बाज़ारी में सप्लाई इंस्पेक्टर रंजीत कुमार की भूमिका संदिग्ध।

पात्र गृहस्थी कार्डधारकों के साथ हो रहा खेल, की जा रही धन उगाही,पूर्ति निरीक्षक पर लग रहे गंभीर आरोप।

सप्लाई इंस्पेक्टर के इशारो पर धन उगाही की नियत से की जा रही पात्र गृहस्थी कार्डधारक़ो की नाम कटौती।

               

रिपोर्ट- एम.असरार सिद्दीकी।
बहराइच:- विकास खण्ड़ नवाबगंज अंतर्गत ग्राम पंचायत राम नगर सेमरा में कार्ड फीडिंग और नाम कटौती क़ो लेकर व्यापक घोर अनियमतायें सम्बंधित विभाग द्वारा की जा रही है। जिसमे धन उगाही की नियत से पात्र लाभार्थियों के परिवार का नाम बीच बीच में काट दिया जाता है, उसके बाद पुनः फीड कराने के लिए 200 से 400 रुपया प्रति कार्ड वसूल किया जाता है , यह खेल काफी दिनो से चलता आ रहा है , ग्राम वासियों जब राशन लेने उचित दर विक्रेता की दुकान पहुँचते हैं तो पता चलता है कि उनके परिवार के आधे से अधिक परिवारो का नाम राशन कार्ड से उड़ा दिया गया है और कुछ लाभार्थियों का राशन कार्ड ही काट दिया जाता है जिससे उनको उक्त योजना का लाभ नही मिल पाता है। जिससे वह मायूस होकर घर वापस आ जाते है।इस लॉक डाउन के समय मे ये खेल ग्राम वासियो को बहुत तकलीफ देता है। उक्त प्रकरण की जानकारी जब हमारे संवादाता को हुई तो उन्होने सप्लाइ इंस्पेक्टर नवाबगंज रंजीत कुमार से बात किया तो उन्होने कोई उचित जबाब ना देकर मामलें क़ो घुमाने का प्रयास किया और बताया कि हमारे विभाग से नही काटा गया है यह आधार कार्ड डाटा का मामला है।जबकि संवादाता ने बताया की अभी कुछ दिन पहले मैने अपने परिवार का आधार नाम और सूचनाएं जिला पूर्ति विभाग से कराया था उसके बाद आज ऑनलाइन चेक किया तो आधे से अधिक परिवार का नाम गायब दिखा।यहाँ यह भी बताना आवश्यक व उचित प्रतीत हो रहा है की धन उगाही और कालाबाजारी रंजीत कुमार के इशारो पर हो रही है। जंहाँ पर कई ऐसे परिवार में अरसों से मृतक का नाम फीड कराके अनुचित लाभ लेकर राशन देकर लगातर मुहैया करा रहे है जिनका नाम कटना चाहिए उनके परिवार से अनुचित लाभ लेकर मृतको का नाम नही काटे जा रहे है।उक्त के समंध में जिला पूर्ति अधिकारी से सम्पर्क करने का प्रयास किया गया तो उनका निजी और सी.यू. ज़ी. दोनो नंबर नही उठा ।उपरोक्त प्रकरण जांच का विषय है यदि जिला प्रशासन ने संज्ञान लेकर जांच कराकर उचित कार्यवाही नही किया तो उक्त प्रकरण की जांच लोकायुक्त से कराने हेतु ग्रामवासियों क़ो मजबूर होना पड़ेगा और पीड़ित ग्रामीग वासी आंदोलन करने को बाध्य होंगे जिसकी पूरी जानकारी सप्लाई इंस्पेक्टर रंजीत कुमार की होगी। अब ये देखना है कि क्या ये खेल हमेशा होता रहेगा ये इस खेल पर अंकुश लगेगा ये वक्त बताएगा।

About CMD NEWS

Check Also

बहराइच- जुड़ा गांव में अज्ञात कारणों से घर में लगी में लगी आग,घर में सो रहे बच्चे की जलकर दर्दनाक मौत,परिवार में मचा कोहराम

रिपोर्ट- विवेक श्रीवास्तव कार्यालय कोतवाली नानपारा क्षेत्र के जुड़ा निवासी सनोज के घर मे अज्ञात …

Leave a Reply