Breaking News
Home / World / प्रमुख खबरें / लैंगिक असमानता एवं यौन हिंसा की रोकथाम जागरूकता पर किया गया संवेदीकरण।
[responsivevoice_button pitch= voice="Hindi Female" buttontext="ख़बर को सुनें"]

लैंगिक असमानता एवं यौन हिंसा की रोकथाम जागरूकता पर किया गया संवेदीकरण।

 

दिनांक 28.6.2021 को ममता हेल्थ इंस्टीट्यूट फॉर मदर एंड चाइल्ड द्वारा संचालित परियोजना सवेरा के अंतर्गत स्थानीय समुदाय आधारित संगठनों के प्रतिनिधियों का लैंगिक असमानता एवं यौन हिंसा पर संवेदीकरण किया गया सत्र का प्रारंभ करते हुए संस्था से मौजूद टीम ने बताया कि संस्था महिलाओं के प्रति लिंग आधारित हिंसा एवं भेदभाव को कम करने हेतु एवं सेवाओं से जुड़ाव एवं उनके अधिकारों के प्रति समझ बढ़ाने हेतु सवेरा परियोजना का प्रारंभ उत्तर प्रदेश एवं राजस्थान में कर रही पर योजना का मुख्य उद्देश्य है कि लैंगिक समानता के प्रति युवाओं अभिभावकों की जागरूकता बढ़ाना समुदाय के हित धारकों की यौन हिंसा से संबंधित विषयों पर क्षमता वर्धन करना पीड़ितों को कानूनी चिकित्सीय सहायता दिलवाने एवं यौन हिंसा की रोकथाम हेतु व्यापक जन जागरूकता बढ़ाना साथ ही साथ पुरुषों व युवाओं किशोरियों एवं महिलाओं को सशक्त बनाना एवं अभिभावकों परिवार जनों तथा समुदाय के प्रतिनिधियों की भागीदारी सुनिश्चित करना है उन्होंने आगे बताया कि भारत में लिंग आधारित हिंसा काफी अधिक है राष्ट्रीय परिवार सर्वेक्षण 4 के अनुसार देश में 15 से 49 वर्ष की 30 प्रतिशत महिलाएं 15 वर्ष की आयु से ही शारीरिक हिंसा सहन करती हैं पूरे जीवन काल में 30 प्रतिशत घरेलू हिंसा एवं 6प्रतिशत यौन हिंसा का शिकार होती रहती है राष्ट्रीय अपराध रिकॉर्ड ब्यूरो की भारत में अपराध रिपोर्ट 2017 के अनुसार प्रतिदिन देश में 92 बलात्कार के मामले दर्ज होते हैं उनमें से 14प्रतिशत लड़कियां 16 वर्ष से कम आयु की 15.09 प्रतिशत 16 से 18 वर्ष की 50. 2 प्रतिशत 18 से 30 वर्ष एवं 17. 5 प्रतिशत 30 से 50 वर्ष आयु की होती हैं सत्र के दौरान स्थानीय समुदाय आधारित संगठनों के प्रतिनिधियों ने भी अपने विचार साझा किए और बताया कि उनकी संस्थाएं भी समुदाय विकास पर कार्य कर रही हैं उन्होंने बताया कि लिंग योन एवं घरेलू हिंसा की रोकथाम हेतु महिलाओं की आर्थिक एवं शैक्षणिक उन्नति बहुत आवश्यक है साथ ही इस संवेदीकरण कार्यक्रम में पुरुषों की भागीदारी बढ़ाना भी बहुत जरूरी है संवेदीकरण में आए सभी प्रतिनिधियों ने इस मुहिम के साथ जुड़ने एवं एवं जागरूकता बढ़ाने हेतु मिलकर कार्य करने के निर्णय को पसंद किया एवं सहमति दिखाई संवेदीकरण सत्र में ममता संस्था से परियोजना की टीम एवं 5 समुदाय आधारित संगठनों नेहरू युवा केन्द्र,हम हमारी संस्कृति,नवल किशोर मेमोरियल एजुकेशनल डेवलोपमेन्ट एंड ह्यूमन वेलफेयर सोसाइटी,डी एस डब्लू एस उन्नति टीम,ब्रोक इंडिया,ने प्रतिभाग किया।

About CMDNEWS

Check Also

बहराइच- अवैध खनन पर सख्त तहसील नानपारा के अधिकारी, कार्यवाही

रिपोर्ट- विवेक श्रीवास्तव संपादक कार्यालयअवैध खनन पर तहसील प्रशासन ने कार्रवाई करते हुए ग्राम ताजपुर …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *