Breaking News
Home / Uncategorized / BREAKING NEWS / मीडिया में 1 मार्च से गोंडा मैलानी प्रखंड पर ट्रेन चलाने की बात आ रही आधिकारिक सूचना ना होने से संशय बरकरार
[responsivevoice_button pitch= voice="Hindi Female" buttontext="ख़बर को सुनें"]

मीडिया में 1 मार्च से गोंडा मैलानी प्रखंड पर ट्रेन चलाने की बात आ रही आधिकारिक सूचना ना होने से संशय बरकरार

नानपारा रेलवे जंक्शन पर कोई तैयारी नहीं दिखी:-

    नानपारा /बहराइच -पूर्वोत्तर रेलवे गोंडा मैलानी प्रखंड पर कोर्ट के आदेश पर 16 मार्च 20 20 को बंद हुई रेल यात्री गाड़ियां 1 मार्च 20 21 से फिर चलाए जाने की  की बात आ रही है l आपको बता दें कि अंग्रेजी शासन काल के समय वर्ष 1936 में नानपारा रेलवे जंक्शन बनाया गया और उसी समय से यहां का पर ट्रेनों ट्रेनों का संचालन होता रहा है परंतु वन विभाग की ओर  से  बीते वर्षों में मामला कोर्ट पहुंचा और कोर्ट के आदेश के बाद करीब 84 साल बाद 16 मार्च 2020 को ट्रेनों का संचालन बंद कर दिया गया  इसके बाद जनता की मांग और नेताओं के प्रयास के बाद अधिकारियों ने  ट्रेन चलाने की बात कही थी और इसकी तैयारी भी की जा रही थी इसी बीच वैश्विक महामारी  कोविड-19 के कारण देशभर में लॉक डाउन लग गया जिस के कारण अब तक ट्रेनों का संचालन नहीं हो पाया  कोविड-19 की वैक्सीन आने के बाद देश में धीरे धीरे ट्रेनों का संचालन शुरू हुआ परंतु अभी तक गोंडा मैलानी प्रखंड पर संचालन नहीं हो सका है इसको लेकर काफी समय से मांग की जाती रही है क्षेत्रीय सांसद अक्षयवर लाल गौड़ ने  रेल मंत्रालय भारत सरकार के अधिकारियों से वार्ता की वार्ता के बाद उन्होंने मीडिया को बताया कि 1 मार्च 20 21 से ट्रेनों का संचालन होगा  सोशल मीडिया में तथा प्रिंट मीडिया में भी 1 मार्च से ट्रेन चलाने की बात आई है l इस संबंध में पूर्वोत्तर रेलवे डीआरएम मोनिका अग्निहोत्री से बात करने का प्रयास किया गया परंतु बात नहीं हो सकी उनके पीआरओ महेश गुप्ता ने बताया कि अभी  कोई आदेश नहीं आया है

जब तक आदेश नहीं आता है हम प्रेस को जानकारी नहीं दे सकते महेश गुप्ता के  बयान के बाद बात साफ हो जाती है कि 1 मार्च को ट्रेन  संचालन पर अभी संशय  बना हुआ है सांसद की मानें तो 1 तारीख से संचालन होगा परंतु ऑथेंटिक सूचना ना होने से अभी कुछ कहा नहीं जा सकता  दूसरी ओर एक लंबे समय से ट्रेन बंद होने के कारण यहां के व्यापारी मजदूर किसान सभी परेशान हैं रिक्शा चालक बजरंगी और छोटे लाल कहते हैं कि वे चार 500 कमाते थे रेल बंद होने से अब 200 से 100 ही कमा पा रहे हैं सलमान कहते हैं कि मजदूर पेशा व्यक्ति हैं बहराइच जाने का किराया ₹10 था और आने का ₹10 ₹20 में हम घर पहुंच जाते थे परंतु रेल बंद होने के कारण अब उन्हें डेढ़ शो खर्च करना पड़ रहा है इस महंगाई के दौर में काफी परेशान हैं हलीम वे कहते हैं कि वह भी ₹20 में बहराइच से घर वापस आ जाते थे अब उनको बहराइच जाने के लाले पड़े हुए हैं डेढ़ सौ रुपए खर्च आता है व्यवसाई दुकानदार सोनू सिंह कहते हैं कि ट्रेन बंद होने से उनका व्यापार चौपट हो गया है  व्यापारी राजू साहू कहते हैं कि ट्रेन बंद होने से समस्याओं के बीच गिरे हैं परिवार चलाने में अपने को असमर्थ महसूस कर रहे हैं राज कुमार मौर्या का कहना है कि ट्रेन से बिक्री होती थी ट्रेन बंद होने से व्यवसाय बहुत मंद पड़ गया है किराए देने में भी समस्या आ रही है l दैनिक रेल यात्री संघ के पूर्व अध्यक्ष प्रदीप कुमार शर्मा कहते हैं कि ट्रेन बंद होने से किसान मजदूर सभी लोग परेशान है ट्रेन का किराया कम था उन्हें मालूम हुआ है कि 1 मार्च से सिर्फ दो ट्रेनों का संचालन होगा ऐसे में एक ट्रेन जाने के लिए होगी और दूसरी वापस होने के लिए क्षेत्र में बहुत बड़ी आबादी है ऐसे में एक ट्रेन  से इतने लोग यात्रा नहीं कर पाएंगे ट्रेन पहले की तरह ज्यादा से ज्यादा चलाई समाजसेवी पवन तुलसियान मंजूर हसन हाशमी आदि भी पहले की तरह ट्रेनों के संचालन की मांग भारत के रेल मंत्री से की है l

About cmdnews

Check Also

बहराइच- नानपारा नगरपालिका में अनियमितता की भेंट चढ़ रहा लाखों का नाला, जांच की कही बात

रिपोर्ट- विवेक श्रीवास्तव जिला बहराइच के आदर्श नगर पालिका नानपारा के द्वारा मिहींपुरवा रोड पर …

Leave a Reply